विनय कुहार, अमन वर्मा लेकर आ रहे है एक क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज दुराश्य – दी क्रिमिनल इंटेंशन

साल 2018 की वो घटना जिसमें ड्यूटी पर तैनात एक पीएसओ ने जज की पत्नी और बेटे को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था। इस घटना ने सनसनी मचा दी थी। जज की पत्नी पर तमाम तरह के आरोप लगे।कई फेक न्यूज सर्कुलेट हुईं। मामले का ट्रायल चला और आरोपी पीएसओ महिपाल ने 40 से ज्यादा स्टेटमेंट दिए लेकिन आखिर में वही दोषी साबित हुआ। महिपाल को साल 2020 में मौत की सजा मिली और अब यह मामला एक बार फिर सुर्खियों में है।

आप सोच रहे होंगे अब इसमें क्या अपडेट हैं तो बता दें कि इस सनसनी घटना को आप अब एक वेब सीरीज नामक दुराश्य – दी क्रिमिनल इंटेंशन के फॉर्म में देख सकते हैं। अगर आप क्राइम थ्रिलर और क्रिमिनल साइकोलॉजी वाली फिल्में देखना पसंद करते हैं तो आपको यह सीरीज दुराश्य – दी क्रिमिनल इंटेंशन पसंद आएगी। आप इस सीरीज को फ्री में देख सकते हैं। हमने सीरीज में दोषी पीएसओ का किरदार निभा रहे विनय कुहर से खास बात की। पहली बार कैमरे का सामना करने वाले विनय कुहार ने सीरीज के बारे में बताया।

विनय कुहार ने कहा, मैंने कई प्रोसीडिंग खुद कोर्ट में रहकर सुनी थीं। मेरे लिए सब कुछ साफ था लेकिन उसे पर्दे पर उतारना एक चैलेंज था। इस केस को लेकर कई फेक न्यूज भी चली थीं। केस से जुड़ी इतनी तरह तरह की खबरें थी तो उन्हें पिरोना भी एक बड़ी जिम्मेदारी थी। क्योंकि मीडिया ट्रायल में कई बार ऐसी बातें उठ जाती हैं जिनका असलियत से कोई लेनादेना नहीं होता। कई बार तो असलियत भी छिपी रहती है और लोग अपनी-अपनी कहानी बना लेते हैं।

विनय बताते है कि, अगर आप कहानी को शॉर्ट अंदाज या 2-2.30 घंटे में दिखाएं तो यह इतना मुश्किल नहीं होता लेकिन एक वेबसीरीज के तौर पर एक घटना को पर्दे पर उतारना उतना ही चैलेंजिंग होता है। पुलिस कॉन्स्टेबल की सिलेक्टेड स्टेटमेंट उठाना किसी कंट्रोवर्सी से बचते हुए टॉपिक को सटीक तरह से पेश करना, फेक न्यूज से प्रभावित होने से बचना इन्हें मिलाकर कई ऐसी बातें होती हैं जिन्हें लेकर बहुत सतर्क रहना पड़ता है।

यह वेब सीरीज दुराश्य – दी क्रिमिनल इंटेंशन 8 एपिसोड की है। पहला एपिसोड रिलीज हो चुका है और दूसरा एपिसोड 18 को दूसरा आएगा।आप इस वेब सीरीज को वकील प्रोडक्शन के यूट्यूब पर देख सकते हैं।

getmovieinfo.com

Related posts