पद्मश्री विजेता- बिमल कुमार जैन ने ‘एक महानायक- डाॅ बी.आर. आम्बेडकर‘ के कलाकारों की तारीफ की

एण्डटीवी पर प्रसारित होने वाला, भारतीय टेलीविजन का बेहद लोकप्रिय शो, ‘एक महानायक-डाॅ बी.आर. आम्बेडकर‘, अपनी रोचक कहानी और दमदार किरदारों से दर्शकों का चहेता बना हुआ है। फैन्स की बात करें तो हाल ही में इस शो के कास्ट और क्रू को एक सरप्राइज मिला, जब पद्मश्री विजेता बिमल कुमार मुंबई में शो के सेट पर पहुंचे। सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में बिमल कुमार अपने बेहतरीन काम के लिये जाने जाते हैं। दिसंबर 2019 में जब से यह शो शुरू हुआ है, वे इसे लगातार देखते आ रहे हैं। आइए जानते हैं, शो के सेट पर आने पर पद्मश्री बिमल कुमार का क्या कहना है। ‘‘एक सामाजिक कार्यकर्ता और कला प्रेमी होने के नाते, ‘एक महानायक- डाॅ बी.आर. आम्बेडकर‘ ने पहले ही दिन से मेरा ध्यान खींचा। इस शो को जो चीज अलग बनाती है वो हैं इसके किरदार, डायलाॅग्स, स्क्रीनप्ले, सीन और सबसे जरूरी इसका कथानक। इसमें भारत के सबसे महान समाज सुधारक बाबासाहेब की कहानी बताई गई है। इस शो के लेखक बहुत ही बेहतरीन काम कर रहे हैं। भारतीय टेलीविजन पर यह मेरे पसंदीदा शोज़ में से एक है। मैंने एक एपिसोड भी मिस नहीं किया है और मेरा पूरा परिवार बड़े ही चाव से इस शो को देखता है। मैं काफी समय से इस शो की कास्ट से मिलना चाहता था और पूरी टीम को बधाई देना चाहता था। बड़े ही गर्मजोशी से मेरा स्वागत किया गया और पूरे सेट पर वो माहौल नजर आया। एक्टर्स के साथ बात करके अच्छा लगा, उन्होंने इस शो पर अपने सफर के बारे में बताया और मेरे प्यार तथा सपोर्ट के लिये मुझे धन्यवाद भी दिया। मैं भीमराव, रामजी सकपाल (जगन्नाथ निवानगुने), रमाबाई (नारायणी महेश वरणे) के साथ-साथ बाकी कास्ट, शो के डायरेक्टर को शुक्रिया कहना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे घर पर होने का एहसास कराया और मेरे साथ बहुमूल्य वक्त बिताया। मैं पूरी टीम को बधाइयां देता हूं।‘‘

एक पक्के फैन से मिलने पर युवा भीमराव का किरदार निभा रहे, अथर्व ने कहा, ‘‘यह हमारे दर्शकों का प्यार और लगाव है जो हमें प्रोत्साहित करता है। जब दर्शक और फैन्स हमारे काम और प्रयासों की तारीफ करते हैं तो गर्व और उपलब्धि हासिल करने का अहसास होता है। अपने सामाजिक कार्य के लिये प्रतिष्ठित पुरस्कार, पद्मश्री पाने वाले बिमल कुमार जैन से मिलना वाकई सम्मान की बात है। वह बेहद विनम्र, मृदुभाषी और आगे की सोच रखने वाले व्यक्ति हैं। उन्होंने प्रसिद्ध मधुबनी पेंटिंग वाले अंगवस्त्र और शाॅल देकर हमें सम्मानित किया। उन्होंने हमारे शो और हमारे काम की तारीफ की। मैं खुद को खुशकिस्मत मानता हूं कि मुझे युवा बाबासाहेब का किरदार निभाने का और इतने चर्चित और प्रेरक शो का हिस्सा बनने का मौका मिला।‘‘ रामजी सकपाल का किरदार निभा रहे, जगन्नाथ निवानगुने ने कहा, ‘‘अपने फैन्स और दर्शकों से आमने-सामने मुलाकात करना हमें बहुत खुशी देता है, क्योंकि इससे हमें अपने काम को लेकर प्रत्यक्ष रूप से प्रतिक्रिया मिलती है। इस शो को इतनी शानदार प्रतिक्रिया मिलते हुए देखकर बहुत ही खुशी और गर्व का अनुभव होता है। समय के साथ यह दर्शकों का चहेता शो बन गया है। पद्मश्री विजेता बिमल कुमार जैन से मिलना मेरे लिये बहुत ही बड़ा मौका था, जो अपने सामाजिक कार्यों के लिये इतने सम्मानित हैं और वे हमसे मिलने आए। उनके प्रेरणादाई और तारीफों के लिये उन्हें शुक्रिया कहना चाहता हूं। उनसे मिलकर बहुत अच्छा लगा।‘‘

getmovieinfo.com

Related posts