“मुझे अपने किरदार अनन्या से अपनापन महसूस हुआ”

एंड पिक्चर्स पर 30 जनवरी को होने जा रहे हैं फिल्म ‘तूफान’ के प्रीमियर के अवसर पर मृणाल ठाकुर से एक खास चर्चा

एंड पिक्चर्स पर 30 जनवरी को शाम 5 बजे फिल्म तूफान के प्रीमियर के साथ जबर्दस्त जोश से भरे दमदार पंचेस का मजा लेने के लिए तैयार हो जाइए! इस फिल्म में जिंदगी की झलक के साथ अटूट जज़्बे का जश्न मनाते हुए मृणाल ठाकुर ने तूफान के बारे में खास चर्चा की, जिसमें उन्होंने राकेश ओमप्रकाश मेहरा और फरहान अख्तर की दमदार जोड़ी के साथ काम करने और अपनी जिंदगी की सकारात्मक बातों के बारे में चर्चा की।

Que ● आप तूफान की किस बात से आकर्षित हुईं?

Ans – एक कलाकार के तौर पर मैं अपनी परफॉर्मेंस बेहतर बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ती हूं और मैं हमेशा चैलेंजिंग रोल्स की तलाश में रहती हूं। जब मुझे ‘तूफान’ का प्रस्ताव मिला, तो मैंने इसकी स्क्रिप्ट पढ़ी और मैं तुरंत ही इस फिल्म के प्रति समर्पित हो गई। इस फिल्म की दमदार कहानी और इसमें दिखाई गई प्यार की ताकत ने मुझे आकर्षित किया। तूफान एक स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म से कुछ ज्यादा है। यह प्यार, ईमानदारी और वफादारी के बारे में है और यह आपका सर्वश्रेष्ठ बाहर ला सकती है।

Que ● आपने इस फिल्म में बड़ा महत्वपूर्ण रोल निभाया है। अपने किरदार के बारे में आपका क्या रुख था?

Ans – मुझे अब भी याद है, जब राकेश सर ने मुझे बताया था कि अनन्या एक ऐसी इंसान है, जो लोगों के चेहरों पर मुस्कान देखने के लिए जीती है। वो अज़ीज़ के मन में भी यही उत्साह जगाती है और उसे उसकी असली काबिलियत से मिलाती है। मुझे अनन्या का किरदार बड़ा अपना-सा लगा। इस किरदार में उतरने के लिए मुझे बस कुछ नोट्स लगे और इससे ज्यादा, मुझे स्वाभाविक नजर आने की जरूरत थी। अज़ीज़ और अनन्या के बीच बड़े कमाल की और प्रेरणादायक केमिस्ट्री है और मैं चाहती थी कि दर्शक इससे जुड़ें। मैं बता नहीं सकती कि यह फिल्म करके मुझे कितना अच्छा महसूस होता है।

Que ● राकेश ओमप्रकाश मेहरा और फरहान अख्तर की दमदार जोड़ी के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?

Ans – सच कहूं तो राकेश ओमप्रकाश मेहरा और फरहान अख्तर के साथ सेट पर होना बड़ा सुखद अनुभव था। राकेश सर के साथ काम करना हमेशा से मेरा सपना था और तूफान के साथ न सिर्फ यह सपना सच हुआ, बल्कि इसने मुझे एक एक्टर के रूप में भी आगे बढ़ाया। यह ग्रैंड मास्टर के साथ मास्टर क्लास में शामिल होने जैसा था। मैंने इसमें नई टेक्निक के साथ-साथ शूटिंग से पहले किसी सीन पर चर्चा करने के महत्व के बारे में भी सीखा और यह जाना कि यह क्यों जरूरी है।और फरहान के साथ के साथ स्क्रीन शेयर करना बड़ा ही खुशनुमा एहसास था। वो जिस तरह से अपने किरदार में उतरकर अपने रोल को जीते हैं, उससे मुझे वाकई बहुत प्रेरणा मिली। वो पूरी तरह से अपने किरदार में ढल जाते हैं और इससे एक परफॉर्मर के रूप में मेरी झिझक भी दूर हो गई।

Que ● ‘तूफान’ लोगों पर होने पड़ने सकारात्मक प्रभाव के बारे में बात करती है, क्या आपकी जिंदगी में भी कोई ऐसा है?

Ans – मैं कुछ सबसे प्रभावशाली और निडर महिलाओं को देखते हुए बड़ी हुई हूं, जो अच्छी तरह जानती थीं कि उन्हें क्या चाहिए और वे कोशिश करने में कभी पीछे नहीं रहीं। इससे मुझे यह यकीन हो गया कि मैं जिस ऊंचाई को भी चुनूंगी, मैं वहां तक पहुंच सकती हूं। उन्होंने मेरे करियर के दौरान मेरा साथ दिया और मुझे ऐसे रोल्स अपनाने के लिए बढ़ावा दिया, जो मेरे कम्फर्ट ज़ोन से बाहर थे। इसलिए मैं अच्छी तरह समझ गई थी कि अज़ीज़ पर अनन्या का क्या असर हो सकता था। मैं अपने रोल में इसी विश्वास को शामिल करके इसे विश्वसनीय बना सकी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by ANDPictures (@andpicturesin)


Que ● एक के बाद एक अपनी फिल्मों के लिए मिले अच्छे रिव्यूज़ के बाद अब आगे क्या करने जा रही हैं?

Ans – जब एक कलाकार के तौर पर आपकी मेहनत को सराहा जाता है, तो बहुत अच्छा लगता है। इससे मुझे ज्यादा मेहनत करने और अच्छे रोल्स का चुनाव करने की प्रेरणा मिलती है। दर्शक मुझे तडम के रीमेक में सिद्धार्थ मल्होत्रा के ऑपोजिट और फिल्म आंख मिचोली में अभिमन्यु दस्सानी के साथ देखेंगे।

getmovieinfo.com

#MrunalThakur #Actress #Movie #Toofaan #Andpitures #Premier

Related posts