आसिफ शेख बेहद सादगी से मनाएंगे अपना 58वां जन्मदिन

एण्डटीवी के कल्ट काॅमेडी शो ‘भाबीजी घर पर हैं‘ में विभूति नारायण मिश्रा की भूमिका निभा रहे आसिफ शेख ने कई किरदार अदा किये हैं। अभिनय की दुनिया में काम करते हुए उन्हें तीन दशक हो गए हैं; उन्होंने 80, 90 और 2000 के दशकों में काॅमेडी शोज और फिल्मों पर राज किया है। आसिफ शेख ने हमेशा बेहतरीन परफाॅर्मेंसेस दिये हैं और अपनी शानदार प्रतिभा, लगन तथा अनुभव के चलते दर्शकों का भरोसा जीता है। आसिफ शेख जल्दी ही अपना 58वां जन्मदिन मनाएंगे। हाल ही में हुई एक बातचीत में उन्होंने अपने सेलीब्रेशन प्लांस, इंडस्ट्री में अपने सफर और आगामी प्रोजेक्ट्स पर बात की है।

1. आप इस साल अपना जन्मदिन कैसे मना रहे हैं?

जन्मदिन हमेशा से मेरे लिये खास रहे हैं, क्योंकि वे मुझे बेहतरीन लोगों के साथ बीते मेरे शानदार सालों की याद दिलाते हैं। मेरा इस साल का बर्थडे एक वर्किंग बर्थडे होगा, क्योंकि मैं एक फिल्म की शूटिंग करूंगा। हालांकि अगले दिन मैं अपने परिवार को डिनर के लिये बाहर ले जाना चाहता हूँ। अगर मेरा शूटिंग शेड्यूल इजाजत देगा, तो मैं अपने प्यारे इंस्टाग्राम फैंस के लिये एक लाइव इंस्टाग्राम सेशन भी करूंगा, जिन्होंने हर कदम पर मेरा साथ दिया है। उनकी मौजूदगी के बिना मेरा कोई भी जश्न अधूरा होगा।

2. आपको अब तक कौन से खास उपहार मिले हैं?

मेरा परिवार और मेरा शो ‘भाबीजी घर पर हैं’ मुझे मिले सबसे अनमोल तोहफों में शामिल हैं और मुझे नहीं लगता कि उनसे ज्यादा खास कुछ हो सकता है।

3. एक एक्टर के तौर पर आपने अपने कॅरियर की शुरूआत कब की? क्या आपने कभी सोचा था कि आपका सफर इतना कामयाब रहेगा?

मैंने कभी एक्टर बनने के बारे में नहीं सोचा था। मैं एक खिलाड़ी था, और मैंने राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर मैच खेले थे। बोर्ड परीक्षाओं के कारण मैं सेशंस में नहीं जा सका और मेरे पिता को खेलों में मेरा भविष्य नहीं दिखा, इसलिये खेलों में मेरा कॅरियर खत्म हो गया। इंटरमीडियेट पूरा करने के बाद मैं होटल मैनेजमेंट की दुनिया में गया, लेकिन वह उतनी रोमांचक नहीं थी। उस वक्त मेरे कुछ दोस्त श्री राम सेंटर में थियेटर कर रहे थे। तब ड्रामा में मेरी रूचि पैदा हुई। मैं नाटकों में थियेटर असिस्टेन्ट बना और मैंने बहुत छोटे-छोटे रोल किये, ताकि अपनी एक्टिंग को निखार सकूं। जब मैंने अपने पहले शो में काम शुरू किया, तब मैं महज 18 साल का था। खाना खरीदने के लिये पैसा और रहने के लिये जगह नहीं थी। अब जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूँ, तब लगता है कि मुझे मेरी मेहनत का फल मिला है।

4. क्या आप विभूति नारायण मिश्रा की भूमिका को अपने कॅरियर का बेमिसाल पल मानते हैं?

‘भाबीजी घर पर हैं’ की टीम को विभूति नारायण मिश्रा की भूमिका के लिये मुझसे कम उम्र का एक्टर चाहिये था। वे 35-40 साल के एक्टर की तलाश कर रहे थे और इसलिये मैं उनकी स्कीम में फिट नहीं बैठता था। वह सामान्य कारणों से मुझे नहीं लेना चाहते थे, लेकिन क्रियेटिव टीम ने उन्हें समझाया कि इस रोल के लिये एक मैच्योर एक्टर सही रहेगा। और इस तरह मैं इस शो से जुड़ा। मैंने इस शो में सात सालों में 300 से ज्यादा किरदार निभाये हैं, जो कि एक्टर के तौर पर एक बड़ी उपलब्धि है। मुझे गर्व है कि मैं इस उम्र में यह कर रहा हूँ। इस शो से मुझे नाम, शोहरत और पैसा मिला है और मैंने तब तक इसमें काम करने का फैसला किया है, जब तक अपनी लाइनें याद रख सकूं। इस शो ने मुझे एक नई शुरूआत दी है। आमतौर पर, मेरी उम्र का एक्टर यह मान लेता है कि उसे स्क्रीन पर बुजुर्ग सपोर्टिंग कैरेक्टर्स ही करने पड़ेंगे। मैं भी उम्मीद छोड़ रहा था और मैंने पारंपरिक कुर्ता पायजामा पहनने और कलाकारों के पीछे खड़े होने के लिये खुद को मानसिक रूप से तैयार कर लिया था। हालांकि, मैं अब भी ईश्वर से प्रार्थना करूंगा कि विभूति जैसा भावों से भरा रोल करने का मौका मुझे जरूर मिले। शुरूआत में मुझे एक शालीन कलाकार के रूप में देखा गया, लेकिन इस शो ने मुझे उस मुकाम पर पहुंचाया, जिसकी मुझे चाहता थी। यह एक बेहतरीन एहसास है। इस शो एवं किरदार से मेरी जिंदगी भी की तमन्ना पूरी हो गई है!

5. इस उम्र में भी आप कैसे इतने सक्रिय रहते हैं?

यह साल काम, परिवार और उपलब्धियों के मामले में शानदार रहा है, जिसका पूरा श्रेय मेरे प्रशंसकों को जाता है। इस एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में तीन दशक से ज्यादा वक्त बिताने के बाद मुझे लगता है कि मेरे प्रशंसकों में से हर इंसान, जो मुझे स्क्रीन पर देखता है, मुझे ज्यादा काम करने के लिये प्रेरित करता है और अपने परिवार के सदस्य जैसा प्यार देता है। तो अपने जन्मदिन पर मैं अपने प्रशंसकों की सेहत के लिए प्रार्थना करता हूँ और चाहता हूँ कि उनका सपोर्ट मुझे हमेशा मिलता रहे।

6. आप ‘भाबीजी घर पर हैं’ के अलावा भी किसी प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं?

अपने जन्मदिन पर, मैं ज्यादा से ज्यादा काम करने की इच्छा रखता हूँ। ‘भाबीजी घर पर हैं’ से मैं काफी व्यस्त हूं, लेकिन मुझे सलमान भाई और सबसे टैलेंटेड डायरेक्टर्स में से एक रोहित शेट्टी के साथ भी फिल्मों में काम करने का मौका मिला है। इसके अलावा, मैंने एक आगामी वेब सीरीज में कैमियो भी किया है।

getmovieinfo.com

Related posts