‘शुभ लाभ- आपके घर में!” की कहानी आगे क्‍या मोड़ लेगी किसे चुनेगी सविता- अपने पति का जीवन या अपनी धार्मिकता को

सोनी सब के ‘शुभ लाभ – आपके घर में’ की कहानी में आये अनापेक्षित मोड़ ने दर्शकों को चौंका दिया है। सविता (गीतांजलि टिकेकर) रोहित (मिथिल जैन) को थप्‍पड़ मारती है, जो उससे ‘सविता मां’ के रूप में एक इंटरव्‍यू करवाता है, जिसमें वह अपनी भक्ति से लोगों का उपचार करती है। हालांकि, रोहित लगातार इनकार कर रहा है और अपनी मां को मनाने का प्रयास करता है। इससे सविता बहुत गुस्‍सा हो जाती है और दु:खी भी है और इसलिये चली जाती है। उसे रोहित के काम का बुरा लग रहा है और वह रोहित की तरफ से लक्ष्‍मी मां (छवि पांडे) से माफी मांगती है।

आयोजक सविता से इंटरव्‍यू करने के लिये कहते हैं, क्‍योंकि उनका पैसा लगा हुआ है। लेकिन वह ऐसा करने से इनकार कर देती है, क्‍योंकि यह अनैतिक है। इससे लोग सविता को कुछ ऐसा मानने लगेंगे, जो वह है ही नहीं और इसलिये वह कभी भी ऐसा कुछ नहीं करेगी। सविता की बातों से नाराज होकर आयोजक सविता एवं रोहित को धमकी देते हैं और बाद में निरंजन (नसीर खान) को किडनैप कर लेते हैं। सविता अब असमंजस में है, क्‍या उसे इंटरव्‍यू करना चाहिये, जो अनैतिक होगा और उसके मूल्‍यों एवं नैतिकता के विरूद्ध होगा, लेकिन यदि वह आयोजकों की बात नहीं मानती है तो उसके पति की जिंदगी खतरे में पड़ जायेगी। वह भारी दिल से इंटरव्‍यू करती है, लोग उससे लगातार सवाल पूछ रहे हैं और वह पूरी ईमानदारी के साथ और उसने जो कुछ भी लक्ष्‍मी मां से सीखा है, उसके आधार पर उन्‍हें जवाब देती है। इंटरव्‍यू के दौरान एक पल ऐसा आता है, जहां उससे एक ‘चमत्‍कार’ करने के लिये कहा जाता है और सविता की सब्र का बांध यहां पर टूट जाता है। वह लाइव टीवी पर सच बता देती है कि वह कोई गॉडवूमन नहीं है, बल्कि एक साधारण इंसान है, जिसने कुछ भी खास नहीं किया है। इसके परिणामस्‍वरूप निरंजन की जान पर फिर से खतरा मंडराने लगता है, क्‍योंकि वह अभी भी आयोजकों के कब्‍जे में है।

निरंजन का क्‍या होगा? सविता उसे कैसे बचायेगी? जानने के लिये आने वाले एपिसोड्स देखिये।

गीतांजलि टिकेकर, जोकि सविता की भूमिका निभा रही हैं, ने कहा, ”यह सविता के लिये एक चुनौतिपूर्ण समय है, क्‍योंकि उसके बेटे ने उसे एक ऐसी स्थिति में डाल दिया है, जिससे वह गुस्‍सा और परेशान हो गई है। वह देवी लक्ष्‍मी की भक्‍त है और उनके सिखाये गये रास्‍ते पर चलती है। व्‍यक्तिगत रूप से सविता कभी भी किसी ऐसी चीज का हिस्‍सा नहीं हो सकती, जो देवी मां की शिक्षा और उसके अपने मूल्‍यों के विरूद्ध हो। वह सिर्फ अपने पति की जान बचाने के‍ लिये ही इंटरव्‍यू देने का फैसला करती है, लेकिन उसका मन इस बात के लिये तैयार नहीं है और आखिर में वह सच बता ही देती है। असली जिंदगी में ऐसा पल आता है, जब हम किसी जटिल मोड़ पर खड़े होते हैं और समझ नहीं पाते कि हमें कौन सा रास्‍ता चुनना चाहिये। सविता भी इन्‍हीं भावनाओं से गुजर रही है। हालांकि, असली सवाल यह है कि वह निरंजन को कैसे बचायेगी? जानने के लिये कृपया ‘शुभ लाभ-आपके घर में’ देखते रहिये।”

getmovieinfo.com

Related posts