‘‘बाहुबली या संजय लीला भंसाली के सेट जैसा भव्य होगा स्वर्ण स्वर भारत‘‘: होस्ट रवि किशन

ज़ी टीवी अपनी तरह का अनोखा भक्ति गायन रियलिटी शो ‘स्वर्ण स्वर भारत‘ लेकर आ रहा है

यह शो भारत के प्राचीन ग्रथों की कुछ रोचक एवं अपनी-सी लगने वाली कहानियों के एक अनोखे संगम के जरिए हमें अपनी जड़ों तक ले जाएगा, जिन्हें अंतरे और भावपूर्ण भक्ति संगीत के माध्यम से प्रस्तुत किया जाएगा। फैदम पिक्चर्स और कैलासा एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा प्रोड्यूस किया गया ‘स्वर्ण स्वर भारत‘, माननीय प्रधानमंत्री की नेक पहल ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव‘ – भारत की आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर एक विनम्र योगदान है। यह कार्यक्रम दुनिया भर में हमारी समृद्ध संस्कृति का उत्सव मनाएगा। इस शो में जाने-माने कवि डॉ. कुमार विश्वास, मशहूर सिंगर्स – पद्मश्री कैलाश खेर और पद्मश्री सुरेश वाडकर जजों के रूप में नजर आएंगे, जो कंटेस्टेंट्स की परफॉर्मेंस को सुर, भाव और सार की कसौटी पर परखेंगे। पॉपुलर एक्टर रवि किशन इस शो के होस्ट के रूप में नजर आएंगे।

जहां जल्द ही इस शो का प्रीमियर होने जा रहा है, वहीं इस शो के सभी जजों और होस्ट ने सभी सुरक्षा उपायों का ध्यान रखते हुए इसकी शूटिंग शुरू कर दी है। पहले एपिसोड में ही उन्हें कुछ बेमिसाल टैलेंट देखने को मिले, जिन्होंने शूटिंग के दौरान सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। यदि टैलेंट इतना शानदार हो तो भला सेट कैसे कमतर हो सकता है! स्वर्ण स्वर भारत एक भव्य पैमाने पर बनाया जा रहा है और इसके लिए किसी बड़ी फिल्म के जैसा सेट लगाया गया है। असल में होस्ट रवि किशन तो इस सेट पर इतने फिदा हो गए कि उन्होंने इसकी तुलना संजय लीला भंसाली की फिल्मों के सेट के साथ-साथ बाहुबली से तक कर डाली।


रवि किशन बताते हैं, ‘‘जब हमारे माननीय प्रधानमंत्री हमारे देश की समृद्ध संस्कृति और इतिहास को बढ़ावा देने के लिए एक विचार के साथ आगे आए, तो हमने भी संगीत के जरिए कुछ करने का सोचा। असल में हम ‘स्वर्ण स्वर भारत‘ इतने भव्य पैमाने पर बना रहे हैं कि इसका सेट बाहुबली या संजय लीला भंसाली की फिल्मों के सेट जैसा है। इससे साबित होता है कि हमारी दूरदृष्टि कितनी विशाल है! असल में यह शो ज्यादा से ज्यादा भारतीयों को अपनी संस्कृति से जोड़ने और इसे दुनिया के सामने प्रस्तुत करने का एक अभियान है।‘‘

getmovieinfo.com

#Zeetv #TheSwarnaswarBharat #Host #RaviKishan

Related posts