कलाकारों की दिवाली इस बार होगी और भी खास

दिवाली नई उम्मीद और खुशियां लेकर आती है। यह अंधकार पर रौशनी की, बुराई पर अच्छाई की और अज्ञानता पर ज्ञान की जीत का प्रतीक है। एण्डटीवी के कलाकारों आयुध भानुशाली (‘दूसरी माँ‘ के कृष्णा), योगेश त्रिपाठी (‘हप्पू की उलटन पलटन‘ के दरोगा हप्पू सिंह) और शुभांगी अत्रे (‘भाबीजी घर पर हैं‘ की अंगूरी भाबी) ने इस बार दिवाली के त्योहार को और भी खास बनाने की अपनी योजनाओं और रोमांच के बारे में बात की।

आयुध भानुशाली, जोकि एण्डटीवी के शो ‘दूसरी माँ‘ में कृष्णा का किरदार निभा रहे हैं, ने कहा, ‘‘दिवाली साल का मेरा सबसे पसंदीदा समय होता है। नये कपड़े और उपहारों को पाने के अलावा, मैं अपनी दादी के हाथ से बनाए गए तरह-तरह के फरसान और मिठाईयां खाने के लिये भी काफी उत्सुक रहता हूं। वह बेसन के लड्डू, गोड़ पापड़ी, चूरमा लड्डू, चकली, चिवड़ा और नमकपारा जैसी पारंपरिक मिठाईयां और स्नैक्स बनाती हैं। दिवाली के दिन की शुरूआत एक खूबसूरत रंगोली से होती है, जो मेरी मां और आंटी घर के दरवाजे पर लक्ष्मी माता का स्वागत करने के लिये बनाती हैं। इसके बाद शाम को लक्ष्मी पूजन होता है और फिर मैं अपने कजिन्स के साथ मिलकर पटाखे जलाता हूं। मेरे परिवार वाले मुझे ज्यादा आवाज वाले पटाखे नहीं जलाने देते हैं, इसलिये हम सिर्फ फुलझड़ी और अनार से ही काम चलाते हैं। यह दिवाली पहले से ज्यादा खास होने वाली है, क्योंकि मैं जयपुर में मेरी दूसरी माँ के साथ भी यह त्योहार मनाऊंगा। जयपुर में कई मशहूर जगहें हैं, जिन्हें खासतौर से दिवाली के लिये बहुत खूबसूरती से सजाया गया है, जैसे कि जल महल, जौहरी बाजार, नाहरगढ़ का किला इत्यादि और मैं उन जगहों पर जाने के लिये बेताब हूं। मेरे दादा-दादी हमेशा कहते हैं कि यदि हम जरूरतमंद लोगों की मदद नहीं करते और उनकी दिवाली को खास नहीं बनाते हैं, तो हमारी दिवाली अधूरी है। इसलिये हर साल की तरह इस साल भी, मैं दिवाली से एक दिन पहले उन्हें मिठाईयां और खाना बांटने के लिये जाऊंगा।‘‘

योगेश त्रिपाठी, जोकि एण्डटीवी के शो ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ में दरोगा हप्पू सिंह का किरदार अदा कर रहे हैं, ने कहा, ‘‘मैं अपना पूरा दिन मेरी प्यारी सी पत्नी और बच्चों के साथ गुजारना चाहूंगा। यह मेरी नवजात बिटिया की पहली दिवाली है और इस अवसर को यादगार बनाने की मैं पूरी कोशिश करूंगा। मैंने उसके लिये कुछ बहुत अच्छे कपड़े खरीदे हैं और अपने घर को दियों, रंगोली और लैम्प्स से सबसे पारंपरिक तरीके से सजाने की योजना बना रहा हूं। इस बार दिवाली की खुशियां बांटने के लिये मेरे कुछ करीबी दोस्त और परिवार के लोग भी डिनर पर हमारे साथ जश्न में शामिल होंगे। इसलिये मैंने अपनी पत्नी सपना के साथ पनीर की सब्जी, आलू की पूरी, गुजिया, पुलाव जैसे कुछ स्वादिष्ट व्यंजनों को बनाने का फैसला किया है। मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं और वहां पर इस त्यौहार की बहुत ज्यादा अहमियत है। वहां पर दिवाली की जश्न काफी पहले और बेहद धूमधाम से शुरू हो जाता है। लोग अपने घरों को साफ करते है, उसे रौशनी से सजाते हैं। जश्न की शुरूआत धनतेरस से ही हो जाती है और यह गोवर्द्धन पूजा तक चलता है। इस त्योहार को मनाने के लिये मेरा पूरा परिवार एक ही जगह पर इकट्ठा होता है। मुझे याद है कि मेरी मां इस दिन माता लक्ष्मी को नारियल, फूल और फल चढ़ाया करती थीं और पूजा के आसन के सामने सिक्कों से भरा एक कटोरा रखती थीं, जो समृद्धि के आमंत्रण का प्रतीक है। अब मेरी पत्नी इस परंपरा को आगे बढ़ा रही हैं। मेरी कामना है कि आपकी दिवाली, मजेदार, सुरक्षित और भक्ति भाव से परिपूर्ण हो। आप सभी को दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें।‘‘

शुभांगी अत्रे, जोकि एण्डटीवी के शो ‘भाबीजी घर पर हैं‘ में अंगूरी भाबी का किरदार निभा रही हैं, ने कहा, ‘‘पिछले कुछ सालों से मैं ग्रीन और इको-फ्रेंडली दिवाली मनाने में विश्वास करने लगी हूं। सजावट के लिये आर्टिफिशियल लैम्प्स का इस्तेमाल करने के बजाय मैं मिट्टी के दियों को चुनती हूं। गाय के गोबर से बने मिट्टी के लैम्प्स और दियों को जलाना पारंपरिक और खूबसूरत दिखता है। इसके साथ ही मैं रंगोली की सजावट के लिये केमिकल युक्त रंगों के बजाय फूलों और आॅर्गेनिक कलर्स का इस्तेमाल करना पसंद करती हूं। हर दिवाली में, मैं घर पर तरह-तरह की मिठाईयां बनाती हूं और मेरी बेटी की एक सबसे पसंदीदा मिठाई है ड्राई फ्रूट खीर। इसके साथ ही हर लक्ष्मी पूजा पर मैं सुबह में अपनी मां को काॅल करती हूं और नोट करती हूं कि कैसे और किस मुहूर्त में मुझे लक्ष्मी पूजा करनी चाहिये। मैं सभी के लिये खुशियों की कामना करती हूं और सभी लोगों को मेरी तरफ से दिवाली की ढेरों शुभकामनायें!‘‘

getmovieinfo.com

Related posts