अटल इनोवेशन मिशन, नीति आयोग और भारत के पहले फंडिंग शो हॉर्सेस स्टेबल ने युवा उद्यमियों के लिए जूनियर कैटेगरी का प्रीमियर संस्करण लॉन्च किया

जूनियर्स सीजन की शुरुआत एक रोमांचक और युवा रचनात्मक दिमागों के लिए भारत के सर्वप्रथम जूनियर स्टार्ट-अप कार्निवल के साथ होगी

नई दिल्ली,भारत की मेधावी उद्यमी प्रतिभाओं की छिपी हुई क्षमता का दोहन करने वाले शो ‘हॉर्सेस स्टेबल’ ने पहले तीन सीजन की शानदार सफलता के बाद अटल इनोवेशन मिशन, नीति आयोग के सहयोग से अपने ‘जूनियर सीजन’ को आज लॉन्च कर दिया है।
‘हॉर्सेस स्टेबल-जूनियर’ युवा उद्यमियों की परवरिश करने पर ध्यान केंद्रित करता है तथा उभरते हुए युवा स्टार्ट-अप उद्यमियों को अपने अनूठे विचार सामने रखने और हॉर्सेस के एक अनुभवी पैनल से अपने भविष्य के व्यावसायिक उपक्रमों के लिए मार्गदर्शन और अनुदान प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।

हॉर्सेस स्टेबल के साथ हुई सहभागिता पर अपने विचार साझा करते हुए नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा- “अटल इनोवेशन मिशन, नीति आयोग जूनियर कैटेगरी को लॉन्च करने वाले सुनील शेट्टी और प्रशांत अग्रवाल के विजन से जुड़कर खुश है, जो विकासमान प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करेगा और भारत की तरक्की और विकास को आगे बढ़ाएगा, क्योंकि यह एआईएम, नीति आयोग के उद्देश्यों के अनुरूप है। यह विजन ‘मेक इन इंडिया’ की अवधारणा को भी पुष्ट करता है, जो अगली पीढ़ियों को संवारने और उनकी परवरिश करने को बढ़ावा ही देगा।”

विचारों को आगे बढ़ाते हुए अटल इनोवेशन मिशन के मिशन डाइरेक्टर डॉ. चिंतन वैष्णव ने कहा, “हॉर्सेस स्टेबल जूनियर भारत के नवाचार पारिस्थितिकी तंत्र के सफर में स्कूल स्तर का एक महत्वपूर्ण कदम है। हमने अटल टिंकरिंग लैब्स के छात्रों से बड़े पैमाने पर उद्यमिता उभरती देखी है, जिसमें दस साल से कम उम्र के छात्र भी किसी न किसी स्टार्ट-अप के मालिक होते हैं और इनमें से कई छात्र अपनी किशोरावस्था तक पहुंचते-पहुंचते अपना दूसरा या तीसरा स्टार्ट-अप खड़ा कर लेते हैं। हॉर्सेस स्टेबल जूनियर भारत के सभी स्कूलों और छात्रों को एक प्लेटफॉर्म प्रदान करके एटीएल्स से कहीं आगे निकल जाता है। आज के लॉन्च के साथ मैं यह जानने को बेहद उत्सुक हूं कि हमारे सबसे कम उम्र के नागरिक अपने देश को आगे ले जाने में किस तरह की दिलचस्पी दिखा रहे हैं।”

बिना किसी पटकथा वाले नॉन-फिक्शन शो हॉर्सेस स्टेबल की रचना और संकल्पना हॉर्सेस प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड (हॉर्सेस स्टेबल शो का प्रोडक्शन हाउस) के ग्रुप सीईओ प्रशांत अग्रवाल द्वारा उद्यमी और स्टार-अभिनेता सुनील शेट्टी की मेंटरशिप के तहत की गई है। यह फ्लैगशिप सीरीज अटल इनोवेशन मिशन द्वारा समर्थित है, जो देश में नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने वाली नीति आयोग की प्रमुख पहल है। भारत के सबसे बड़े बिजनेस फंडिंग शो माने जाने वाले हॉर्सेस स्टेबल ने अपना जूनियर सीजन लॉन्च करने के साथ युवाओं को उद्यमशीलता का सफर शुरू करने की संस्कृति को बढ़ावा दिया है और उनके कारोबारी नुस्खों को बेहतर बनाने के लिए एक मजबूत मंच प्रदान कर रहा है।

इसी पर टिप्पणी करते हुए प्रशांत अग्रवाल ने कहा – “संभावनाशील युवा उद्यमियों के लिए एक प्लेटफॉर्म स्थापित करने का विजन मेरा है तथा मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि अपने होस्ट व मेंटर के रूप में हमें मशहूर एक्टर सुनील शेट्टी का सहयोग व समर्थन मिला। हम नीति आयोग और अटल इनोवेशन मिशन के अटूट समर्थन के लिए आभारी हैं क्योंकि यह सहभागिता हमारे प्लेटफॉर्म को विशाल ऑडियंस तक पहुंचाएगी, जो भारत में नवाचार के पारिस्थितिकी तंत्र का पहले ही हिस्सा बन चुकी है। पिछले तीन सीजन की धमाकेदार सफलता ने हमें जूनियर उद्यमियों के लिए अभूतपूर्व अवधारणाएं सामने लाने को प्रोत्साहित किया है। इस पारिस्थितिकी तंत्र के अंदर ही अनुभवी और सक्षम लोगों के मार्गदर्शन में युवाओं के आइडिया का भविष्य गढ़ना इस पहल के पीछे की अवधारणा है।”
अपनी राय व्यक्त करते हुए प्रतिष्ठित अभिनेता, उद्यमी, होस्ट एवं मेंटर सुनील शेट्टी ने आगे कहा- “मैंने व्यवसाय जल्दी सीख लिया था। प्रयोग और व्यावहारिकता ने- दाल, आटा, चावल, डोसा और मेहनत की कीमत सिखाई। सीखें आपके दिमाग में उतनी ही ज्यादा देर तक टिकी रहती हैं जितनी जल्दी ये आपको सिखा दी जाती हैं। बिजनेस पर भी यही बात लागू होती है। आज 2 और 5 साल के बच्चे हमारी 12 और 15 साल वाली उम्र के मुकाबले ज्यादा मेधावी हैं। तो उन्हें क्यों न एक मौका दिया जाए? आखिरकार वे हमारा भविष्य हैं। और मैं चाहता हूं कि अगले बेज़ोस, जॉब्स और गेट्स भारत से निकलें।“

शो के लिए आवेदन की प्रक्रिया 08 जून 2022 से हॉर्सेस स्टेबल की आधिकारिक वेबसाइट पर शुरू हो चुकी है। आवेदन करने के लिए आयु वर्ग 10 से 17 वर्ष है।

getmovieinfo.com

Related posts